फैक्ट चेक: इस शख्स का बच्ची के रेप से नहीं है कोई लेना-देना

सोशल मीडिया पर ढाई साल की बच्ची के साथ दुष्कर्म वाली एक खबर तेजी से वायरल हो रही है. खबर में एक बुजुर्ग मुस्लिम आदमी की तस्वीर के साथ दावा किया गया है कि ग्रेटर नोएडा में नियाज रज्जाक नाम के एक 54 साल के बुजुर्ग ने एक ढाई साल की बच्ची के साथ बलात्कार किया है. सोशल मीडिया पर लोग जिस खबर को शेयर कर रहे वो Rojgar Times और MNS News नाम की वेबसाइट ने छापी है.

fact_check_pic_093019092347.jpg

इंडिया टुडे एंटी फेक न्यूज वॉर रूम ने अपनी पड़ताल में पाया कि खबर में दिखाई गई बुजुर्ग आदमी की तस्वीर भ्रामक है. ग्रेटर नोएडा का ऐसा एक मामला सचमुच सामने आया है, लेकिन खबर में जिस मुस्लिम आदमी की तस्वीर दिखाई गई है, वो बांग्लादेश के एक रिक्शावाले की है और तीन साल पुरानी है. इस आदमी का दुष्कर्म वाले मामले से कोई लेना-देना नहीं.

Rojgar Times और MNS News की इस खबर को सोशल मीडिया पर जमकर शेयर किया जा रहा है.

यह भी पढ़ें   क्वॉड रियर कैमरे के साथ Oppo A9 2020 और A5 2020 लॉन्च

Pushpendra Kulshrestha नाम के एक ट्विटर यूजर ने Rojgar Times की खबर को गुरुवार को  ट्वीट किया था. इस ट्वीट को 2800 से भी ज्यादा बार रीट्वीट किया जा चुका है.

खबर में दी गई तस्वीर को रिवर्स सर्च करने पर है, हमें एक ब्लॉग मिला, जिसमें ये तस्वीर मौजूद थी. इस ब्लॉग को बांग्लादेश के एक फोटो जर्नलिस्ट आकाश चलाते है. तस्वीर के बारे में जानने के लिए हमने आकाश से ईमेल के जरिए संपर्क साधा. आकाश ने हमें बताया कि ये तस्वीर बांग्लादेश की राजधानी ढाका के एक रिक्शावाले की है जो उन्होंने तीन साल पहले ली थी. इस तस्वीर को आकाश ने 2016 में अपने फेसबुक पेज पर भी शेयर किया था.

यह भी पढ़ें   इमोशन्स से भरी प्रियंका-फरहान की फिल्म, समझाती है जिंदगी की अहमियत

बच्ची के साथ दुष्कर्म वाले मामले को लेकर भी हमें एक रिपोर्ट मिली. टाइम्स ऑफ इंडिया के मुताबिक ग्रेटर नोएडा के जर्छा इलाके में 19 सितम्बर 2019 को नियाज रज्जाक नाम के एक 54 साल के फलवाले को गिरफ्तार किया गया था. रज्जाक पर आरोप था कि उसने एक ढाई साल की बच्ची के साथ दुष्कर्म किया है. बच्ची की मां ने पुलिस को बताया था कि नियाज बच्ची को सेव देने का लालच देकर एक सुनसान जगह ले गया और उसके साथ दुष्कर्म किया.

वायरल खबर में दिखाई गई तस्वीर को लेकर हमारी बात ग्रेटर नोएडा पुलिस से भी हुई. जर्छा के SHO अनिल कुमार ने हमें बताया कि ये घटना तो सच है लेकिन खबर में दिखाई गई तस्वीर आरोपी की नहीं. उन्होंने हमारे साथ आरोपी की तस्वीर भी साझा की. आरोपी होने की वजह से हम तस्वीर को इस खबर में नहीं दिखा सकते.

यहां पर ये बात  साफ होती है कि वायरल खबर में दी गई जानकारी सही है, लेकिन तस्वीर में दिख रहा आदमी आरोपी नहीं.

Leave a Reply